Linux Kya Hai? Why Use Linux Hindi |

हम यहां पर बात करने जा रहे हैं कि Linux Kya Hai? और इसका इस्तेमाल कहां पर किया जाता है तो आप भी अगर Linux के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पर है क्योंकि हम इस पोस्ट के माध्यम से Linux से जुड़ी हुई हर एक जानकारियों को इस पोस्ट के माध्यम से विस्तार से आपके साथ में शेयर करने जा रहे हैं |

जहां पर हम बात करेंगे कि Linux Kya Hai? और यह कैसे दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम से अलग है इसमें हमें कौन से फीचर्स मिलते हैं जो कि इसे इतना चाहता है लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम बनाता है साथ में कुछ सिक्योरिटी से संबंधित फीचर्स के बारे में बात करेंगे |

आज के समय में हम  माइक्रोसॉफ्ट विंडो और गूगल का एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में सभी जानते हैं और हम अपने कंप्यूटर और स्मार्टफोन में इन सभी ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करते हैं लेकिन क्या आपने कभी Linux Operating System के बारे में सुना है अगर नहीं तो मुझे लगता है कि हमारी यह पोस्ट काफी ज्यादा आपके लिए महत्वपूर्ण साबित हो सकती है |

अपने कंप्यूटर में हम्मा अधिकांश माइक्रोसॉफ्ट विंडो ऑपरेटिंग सिस्टम का ही इस्तेमाल करते हैं और यह एक काफी ज्यादा लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम है लेकिन इसके अलावा भी और भी बहुत से लोकप्रिय कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम से अगर आप विंडो का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं तो आप Linux का कर सकते हैं और हम  इसके बारे में और अधिक जानकारी यहां पर देने जा रहे हैं |

IP Address Kya Hai? What is IP Addressing?

Linux Kya Hai?

लिनक्स एक ओपन-सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है जैसे अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे माइक्रोसॉफ्ट विंडोज, ऐप्पल मैक ओएस, आईओएस, गूगल एंड्रॉइड आदि। एक ऑपरेटिंग सिस्टम एक सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच संचार को सक्षम बनाता है। यह प्रोसेसर द्वारा संसाधित होने के लिए इनपुट देता है और इसे प्रदर्शित करने के लिए हार्डवेयर में आउटपुट लाता है।

यह एक ऑपरेटिंग सिस्टम का मूल कार्य है। हालाँकि यह कई अन्य महत्वपूर्ण कार्य करता है लेकिन इसके बारे में बात नहीं करते हैं 90 के दशक के मध्य से लिनक्स हमारे आसपास है इसे कलाई घड़ी से लेकर सुपर कंप्यूटर तक इस्तेमाल किया जा सकता है यह हमारे फोन, लैपटॉप, पीसी, कार और यहां तक कि रेफ्रिजरेटर में हर जगह है यह डेवलपर्स और सामान्य कंप्यूटर उपयोगकर्ताओं के बीच बहुत प्रसिद्ध है |

लिनक्स ओएस 1991 में लिनुस टॉर्वाल्ड्स द्वारा विकसित किया गया था, जो UNIX OS में सुधार करने के लिए एक विचार के रूप में अंकुरित हुआ था। उन्होंने सुधार का सुझाव दिया लेकिन UNIX डिजाइनरों द्वारा अस्वीकार कर दिया गया। इसलिए, उन्होंने एक ओएस लॉन्च करने के बारे में सोचा, जिसे इस तरह से डिज़ाइन किया गया था कि इसके उपयोगकर्ताओं द्वारा संशोधित किया जा सके।

Features of Linux

हमने इस पोस्ट में अभी तक का आपको Linux Kya Hai? इससे जुड़ी हुई पूरी जानकारी प्रदान करती है लेकिन अभी हम बात करते हैं इसके कुछ सबसे बेहतरीन फीचर्स के बारे में जैसे कि आप इसके बारे में और अधिक जान पाएंगे |

System Libraries

सिस्टम लाइब्रेरी विशेष कार्यक्रम हैं जो कर्नेल की विशेषताओं तक पहुंचने में मदद करते हैं किसी कार्य को करने के लिए कर्नेल को ट्रिगर करना पड़ता है और यह ट्रिगर अनुप्रयोगों द्वारा किया जाता है लेकिन एप्लिकेशन को पता होना चाहिए कि सिस्टम कॉल कैसे करें क्योंकि प्रत्येक कर्नेल में सिस्टम कॉल का एक अलग सेट होता है।

प्रोग्रामर्स ने कर्नेल के साथ संवाद करने के लिए प्रक्रियाओं का एक मानक पुस्तकालय विकसित किया है प्रत्येक ऑपरेटिंग सिस्टम इन मानकों का समर्थन करता है और फिर ये उस ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए सिस्टम कॉल में स्थानांतरित हो जाते हैं।

System Tools

लिनक्स ओएस में उपयोगिता उपकरणों का एक सेट है जो आमतौर पर सरल कमांड होते हैं यह एक सॉफ्टवेयर है जिसे GNU प्रोजेक्ट ने अपने ओपन सोर्स लाइसेंस के तहत लिखा और प्रकाशित किया है ताकि सॉफ्टवेयर सभी के लिए स्वतंत्र रूप से उपलब्ध हो।

आदेशों की मदद से, आप अपनी फ़ाइलों तक पहुंच सकते हैं अपनी निर्देशिकाओं या फ़ाइलों में डेटा को संपादित और हेरफेर कर सकते हैं फ़ाइलों का स्थान या कुछ भी बदल सकते हैं।

Development Tools

उपरोक्त तीन घटकों के साथ, आपका ओएस चल रहा है और काम कर रहा है लेकिन आपके सिस्टम को अपडेट करने के लिए, आपके पास अतिरिक्त टूल और लाइब्रेरी हैं। ये अतिरिक्त उपकरण और पुस्तकालय प्रोग्रामर द्वारा लिखे गए हैं और टूलचिन कहलाते हैं टूलकिन एक महत्वपूर्ण विकास उपकरण है जिसका उपयोग डेवलपर्स द्वारा एक कामकाजी अनुप्रयोग का निर्माण करने के लिए किया जाता है।

End User Tools

ये अंतिम उपकरण एक उपयोगकर्ता के लिए एक प्रणाली को विशिष्ट बनाते हैं ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए अंतिम उपकरण आवश्यक नहीं हैं, लेकिन एक उपयोगकर्ता के लिए आवश्यक हैं एंड टूल के कुछ उदाहरण ग्राफिक डिज़ाइन टूल, ऑफिस सूट, ब्राउज़र, मल्टीमीडिया प्लेयर आदि हैं।

CONCLUSION

हमने इस पोस्ट में Linux Kya Hai? इससे जुड़ी हुई सारी जानकारियों को विस्तार से आपके साथ में शेयर किया है हमें पूरी उम्मीद है कि हमारी यह छोटी सी पोस्टर में आपको सारी जानकारी मिल गई होगी, फिर भी अगर आपके कोई सवाल है तो आप हमें नीचे कमेंट के माध्यम से भी पूछ सकते हैं |

Previous articleIP Address Kya Hai? What is IP Addressing?
Next articleCache Memory Kya Hai? How It Work |
नमस्कार दोस्तों, इस वेबसाइट पर आपको नयी-नयी Cricket News, IPL News, Technical Topics, YouTube, Make Money Online, Blogging, Internet और Cricket Live Score पर नवीनतम रुझानों की जानकारी के लिए इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिए और हम आपके लिए नई नई जानकारियां उपलब्ध करवाते रहेंगे. :) #We Techno Ajeet Team Support DIGITAL INDIA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here